आंध्र प्रदेश परिवहन विभाग के एक चपरासी ने 18 प्लॉट और 50 एकड़ खेती की जमीन खरीद रखी है. महज 40 हजार रुपये महीने की सैलरी वाले चपरासी के पास करीब 100 करोड़ की प्रॉपर्टी के कागजात देख भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) के अधिकारी दंग रह गए. एसीबी की केंद्रीय जांच ईकाई ने उसे नेल्लूर से गिरफ्तार कर लिया. नेल्लूर के डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर के ऑफिस में सबॉर्डिटनेट कम अटेन्डेंट के रूप में काम करने वाले 55 वर्षीय के नरसिंह रेड्डी का वेतन करीब 40 हजार रुपये प्रति महीना है. हाल में जब उसने 18वां प्लॉट खरीदा तभी ACB अधिकारियों की नजर में आ गया.

रेड्डी को हाथ से शिल्पकारी वाले चांदी के बर्तन बहुत पसंद हैं. उसने हाल में विजयवाड़ा के एक शोरूम में 7 किलो वजन के दर्जनों चांदी के बर्तन और अन्य सामान खरीदे थे. मंगलवार को नेल्लूर में जब रेड्डी के घर सहित कुल छह स्‍थानों पर ACB अधिकारियों ने छापा डाला तो उसके प्रॉपर्टी के कागजात देखकर वे दंग रहे गए. रेड्डी, उसकी पत्नी और परिजनों के नाम 18 प्लॉट के कागजात मिले. इसके अलावा उसके पास 7.70 लाख रुपये की नकदी, बैंक खातों में जमा 20 लाख रुपए, 2 किलो सोने के जेवरात, एलआईसी में 1 करोड़ से ज्यादा का जमा और 50 एकड़ खेती के जमीन का पता चला. वह नेल्लूर शहर के एमवी अग्रहारम में 3,300 वर्ग फुट के दोमंजिला पेंटहाउस में रहता था.

BY : AAJTAK

02-May-2018

Leave a Comment