कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लंदन में हैं, एक तरफ जहां ब्रिटिश सरकार ने ग्रैंड वेलकम किया है तो वहीं दूसरी तरफ कई लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। लंदन की सड़कों पर दो ग्रुप पीएम मोदी का विरोध कर रहे हैं, जिसमें एक ग्रुप कठुआ गैंगरेप और हत्या को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, तो दूसरे ग्रुप में कुछ सिख लोग पाकिस्तानी लोगों के साथ तख्तियां लेकर विरोध प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं।
कठुआ से प्रदर्शनकारियों ने पीएम मोदी को मुसलमानों की हत्या करने वालों का संरक्षक, बलात्कारियों को बचाने वाला और दलितों की हत्या करने वालों का समर्थक करार दिया है।
कठुआ रेप कांड के में प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियां लेकर खड़े हैं, जिन पर ‘मोदी स्टॉप वॉर क्राइम्स, दलितों के खिलाफ अत्याचार बंद करों और कुछ गोरी लंकेश के तख्तियां लेकर खड़े हैं। वहीं, लंदन की सड़कों पर मोबाइल वेन को भी देखा जा सकता है, जिस पर पीएम मोदी की एक तस्वीर लगी है और ‘मोदी नॉट वेलकम’ लिखा है।
पीएम मोदी के लंदन पहुंचने से पहले हाउस ऑफ लॉर्ड्स में पीर लॉर्ड अहमद ने कठुआ रेप कांड के लिए पीएम मोदी की आलोचना करते हुए ब्रिटिश सरकार को इसमें हस्तक्षेप देने के लिए कहा था। बता दें कि पीएम मोदी ‘भारत की बात सबके साथ’ प्रोग्राम में भारतीय मूल के लोगों के सवाल लेंगे उस वक्त एंटी इंडिया और प्रो मोदी समर्थक आमने सामने हो सकते हैं। कॉमनवेल्थ समिट में हिस्सा लेने के लिए लंदन पहुंचे पीएम मोदी हाल सीरिया और ब्रिटेन के सैलिसबरी में हुए केमिकल अटैक को लेकर भी थेरेसा मे से बात कर सकते हैं। इससे पहले पीएम मोदी प्रिंस चार्ल्स के साथ आयुर्वेदिक सेंटर ऑफ एक्सीलैंस का उद्घाटन किया।

 

                                 

19-Apr-2018

Leave a Comment