सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के सीईओ का इस्तीफासैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वॉन हो-ह्यून ने शुक्रवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया.
उन्होंने इस्तीफा देते हुए कहा कि दक्षिण कोरिया की दिग्गज तकनीकी कंपनी 'अभूतपूर्व संकट' का सामना कर रही है. हालांकि, तीसरी तिमाही में सबसे अधिक मुनाफा होने की उम्मीद जताई गई है. वॉन का इस्तीफा ऐसे वक्त आया है जब कंपनी, सैमसंग के उत्तराधिकारी ली जे इयांग पर रिश्वत कांड में शामिल होने के मुकदमे से बाहर आने की कोशिश कर रही है. इस मामले में उन्हें जेल हुई है.

जुलाई-सितंबर तिमाही में कंपनी का अनुमानित परिचालन लाभ 14,500 अरब वॉन (12.8 अरब डॉलर) हो गया है, जो कि पिछले साल की तुलना में करीब तीन गुना है. तिमाही मुनाफे के लिहाज से यह एक रिकॉर्ड के रूप में चिन्हित है. कंपनी को उम्मीद है कि सेमी-कंडक्टर कारोबार में मुनाफे के साथ उसकी ब्रिकी 29.65 प्रतिशत बढ़कर 62,000 अरब वॉन हो जाएगी.

सैमसंग के शानदार प्रदर्शन के बावजूद सीईओ ने कहा कि कंपनी को 'अभूतपूर्व संकट' का सामना कर रही है, इसी के चलते उन्होंने पद छोड़ने का इरादा जाहिर किया है. उन्होंने अपने बयान में कहा, 'सौभाग्य से, कंपनी इस समय सबसे अच्छे नजीते पेश कर रही है, लेकिन यह केवल पूर्व में किए गए फैसले और निवेश का फल है. मेरा मानना है कि यह समय कंपनी के लिए नए साहस और युवा नेतृत्व के साथ नई शुरुआत करने की है, ताकि तेजी से बदलते आईटी उद्योग में आने वाली चुनौतियों का बेहतर तरह से जवाब दिया जा सके.'


सैमसंग रिश्वत कांड से और उसके बाद उसे सैमसंग नोट 7 फोन की बैट्री में ब्लास्ट होने की घटना से बाहर आने का प्रयास कर रही है. रिश्वत कांड में कंपनी के उत्तराधिकारी ली को जेल जाना पड़ा था. इस मामले में अगस्त में ली को दोषी पाया गया था.

14-Oct-2017

Related Posts

Leave a Comment