एजेंसी 

नई दिल्ली. राजस्थान की बीजेपी सरकार ने राज्य सरकार द्वारा संचालित स्कूलों के लिए ड्रेस कोड लागू करने का फैसला किया है. राजस्थान सरकार साल 2018-19 के शैक्षणिक सत्र से ड्रेस कोड लागू करने जा रही है. इस मामले को लेकर कांग्रेस ने वसुंधरा सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि वसुंधरा सरकार शैक्षणिक संस्थानों का भगवाकरण करने की कोशिश कर रही है.

डिपार्टमेंट ऑफ कॉलेज एजूकेशन की ओर से राज्य के सभी कॉलेजों को एक सर्कुलर जारी किया गया है. इस सर्कुलर में ड्रेस के रंग को लेकर सुझाव मांगे गए हैं. सर्कुलर में कहा गया है कि यूनीफॉर्म लागू करने से पहले छात्र संघ सदस्यों, विद्यार्थियों और विभागाध्यक्षों से यूनीफॉर्म के रंग को लेकर राय ली जाए.

कॉलेज में ड्रेस कोड लागू होने को लेकर उठ रहे विवाद के बीच शिक्षा मंत्री किरन माहेश्वरी ने कहा कि ये स्टूडेंट्स की डिमांड थी कि उनके कॉलेज में ड्रेस कोड होना चाहिए. जिससे ये साफ हो सके कि ये पढ़ने वाला बच्चा है. हमने ये नहीं कहा है कि किसी विशेष रंग की ही ड्रेस होनी चाहिए. अंत में ड्रेस पर फैसला स्टूडेंट्स को ही लेना है.

हालांकि कांग्रेस का कहना है कि बीजेपी आरएसएस के इशारे पर स्कूलों का भगवाकरण करना चाह रही है. बीजेपी चाहती है कि सबको भगवा पहनाकर बाबा बना दिया जाए. कांग्रेस नेता गोविंग देव सिंह ने कहा कि राजस्थान में सरकार आरएसएस के इशारे पर चल रही है. पहले पाठ्यक्रम में बदलाव किया, फिर स्कूलों में भगवा कपड़े पहनने का नोटिस दिया. अब सब कुछ भगवा करके, ये सबको बाबा बनाना चाहते हैं.

06-Mar-2018

Related Posts

Leave a Comment