पूर्व डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस छत्तीसगढ़ 

भोपाल के रेड जोन क्षेत्र में भाजपा की सदस्यता समारोह पर केंद्र और राज्य सरकार से पूर्व डीजेपी वजीर अंसारी ने सवाल खड़े किए 
(जावेद विन अली द्वारा )

उत्तर प्रदेश लखनऊ llपूरी दुनिया कोविड-19 के कोरोना वायरस की लड़ाई में जूझ रहा है lवहीं दूसरी तरफ दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी कहने वाली भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस के पूर्व मंत्री प्रभु राम चौधरी अपने समर्थकों के साथ भोपाल के रेड जोन क्षेत्र भारतीय जनता पार्टी की राज इकाई कार्यालय पर 23 मई को लगभग 200 लोगों का इकट्ठा होने के संबंध में जब मैंने भोपाल में मौजूद पूर्व डीजेपी मोहम्मद वजीर अंसारी से जानने का प्रयास किया तो उन्होंने स्पष्ट लफ्जों में कहा कि आदरणीय अटल बिहारी वाजपेई के जमाने की भाजपा की नैतिकता में आज के मौजूदा भारतीय जनता पार्टी मैं आसमान जमीन का अंतर आ गया हैl बिल्कुल सच बात हैl मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ,भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा ,पूर्व मंत्री रामपाल के साथ कई वीआईपी इस अवसर पर मौजूद थे !

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के जाने के बाद का दृष्य देखने के लायक था !कोई कुछ भी कहे सोशल मीडिया ने पूरा पोल खोल दिया है !और इस अवसर पर डब्लू एचओ ,केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार के सभी दिशानिर्देश का माखौल उड़ाया गया है !इस समय भारतीय जनता पार्टी का मीडिया मैनेजमेंट का दुनिया में चर्चा हैl उसी का नतीजा है जिस प्रमुखता से इस खबर छपनी चाहिए थी lऔर राष्ट्रीय चैनल पर चर्चा होनी चाहिए था नहीं की गईl वहीं दूसरी तरफ शादी , श्मशान घाट और कब्रिस्तान मैं 20 से 50 व्यक्ति का आदेश होने के बावजूद भी एक शादी समारोह के 30 लोगों पर एफ आई आर दर्ज किया गया है! हद तो यह है दिल्ली प्रदेश इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी द्वारा हरियाणा में जाकर क्रिकेट प्रतियोगिता का उद्घाटन कर रहे हैंl भारत की गरीब जनता के लिए डब्लू एचओ से लेकर राज तक के सभी आदेशों का पालन करना अनिवार्य हैl क्या आदरणीय प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और अजीत गोयल जीके आंखों को यह सब कुछ नजर नहीं आ रहा हैl पूरी दुनिया में थू थू हो रहा हैl भारतीय मीडिया को गोदी मीडिया कहकर टीवी देखना बंद कर दिया है.  

वहीं दूसरी तरफ भारतीय मुसलमानों ने आज तक मस्जिदों में जाना बंद कर दिया है lजुमे की नमाज से लेकर ईद की नमाज तक घरों में पढ़ रहा हैl गिरजाघर ,गुरुद्वारा और मंदिर जाने पर पाबंदी रहेगी l कोविड-19 के कानून का उल्लंघन होगाl वही मात्र एक पार्टी के लिए कोई पाबंदी नहीं ।

आदरणीय डीएम महोदय और एसपी साहब से पूछने पर कहते हैं कि जांच हो रही हैl सरकार द्वारा राहत सामग्री भूखों तक नहीं पहुंचने पर कोई खाना खिला दीया और पानी पिला रहा है तो उस पर सरकार द्वारा मुकदमे कायम किए जा रहे हैं । इससे बढ़कर शर्म की बात क्या हो सकती है l मुसलमानों ने ईद की नमाज तक देश हित मे देखते हुए अपनी नमाज तक कुर्बान कर दिया और अपने खैरात, जकात और फितरा की तकरीबन एक लाख करोड़ रुपए से प्रवासी मजदूरों का बिना जात धर्म देखे हुए सिख भाइयों की तरह मदद पहुंचा कर भारत में पहली बार इस तरह काम करने का जज्बा कभी देखा नहीं गया था । यह अलग बात है भारत की गोदी मीडिया इस सराहनीय कार्य की तरफ ध्यान नहीं दीया । लेकिन सोशल मीडिया ने अपना हक अदा कर दिया हैl और सोशल मीडिया पर लोगों का विश्वास बढ़ता जा रहा हैl कानून के भेदभाव करने से लोगों में अविश्वास पैदा होगा जो देश हित के लिए बड़ा खतरा है । संविधान पर शपथ इसी बात की ली जाती है ।

29-May-2020

Related Posts

Leave a Comment