रिपोर्ट 

भुवनेश्वर : ओडिशा के कोरापुट जिले में पिछले साल अक्टूबर में हुए गैंगरेप के बाद तीन महीने तक कोई कार्रवाई न होने से दुखी लड़की ने सोमवार को आत्महत्या कर ली। लड़की की आत्महत्या के बाद राज्य में यह मामला गरमा गया है। भाजपा और कांग्रेस ने सत्ताधारी पार्टी बीजद के खिलाफ आज राज्यव्यापी बंद की घोषणा की है। इस मामले को लेकर विभिन्न संगठनों द्वारा शहर में कैंडल मार्च, सभा व प्रदर्शन किया जा रहा है। भाजपा महिला मोर्चा ने मुख्यमंत्री नवीन पटनायक का पोस्टर फूंककर नाराजगी जताई। 

आपको बता दें की नक्सल प्रभावित कोरापुट जिले में 14 साल की एक आदिवासी छात्रा ने तीन महीने पहले आरोप लगाया था कि वर्दी पहने हुए चार लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया था। अपने अपराधियों को सजा न दिला पाने से दुखी पीड़िता ने सोमवार को आत्महत्या कर ली थी। पीड़िता की मां ने राज्य सरकार और पुलिस उसकी मौत का जिम्मेदार ठहराया और आरोप लगाया कि वर्दीधारी रेपिस्ट को बचाने के लिए पुलिस ने मामले को दबाने की कोशिश कर रही थी। 

ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने रेलवे ट्रैक को बंद कर दिया है। पुलिस उपायुक्त सत्यब्रत भोई ने कहा कि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को तितर बितर करने के लिए लाठी चार्ज किया। कांग्रेस महिला इकाई की सदस्यों ने भी धरना दिया और नवीन निवास में घुसने की कोशिश की। उपायुक्त ने बताया कि पुलिस ने भाजपा और कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। उन्होंने कहा कि अब हालात काबू में है। आंदोलनकर्ताओं को तितर बितर कर दिया गया। प्रदर्शनकारियों के पथराव में चार पुलिस कर्मियों को चोटें आईं। इस मामले को लेकर विभिन्न संगठनों द्वारा पिछले तीन महीनों से राज्य के अलग-अलग शहर में कैंडल मार्च, सभा और विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। 

खुलासा पोस्ट न्यूज नेटवर्क ने भी इस मामले में घटनास्थल पर जाकर 2 महीने पहले रिपोर्टिंग की थी. और इस खबर को विशेष महत्व देते हुए प्रकाशित किया था लेकिन न्याय की गुहार लगाती नाबालिग पीड़िता ने आखिरकार हार मान ली और कथित रूप से आत्महत्या कर ली.  

24-Jan-2018

Leave a Comment