नई दिल्ली : एजेंसी 

बरकछा स्थित बीएचयू के साउथ कैंपस में आरएसएस (संघ) का ध्वज हटाने के मामले में केस दर्ज होने से क्षुब्ध डिप्टी चीफ प्रॉक्टर प्रो. किरण दामले ने बुधवार को इस्तीफा दे दिया। इस पर उन्होंने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। इतना जरूर कहा कि मंगलवार को उनके खिलाफ धरने पर बैठे छात्रों ने इस्तीफे की मांग की थी। लिहाजा, साउथ कैंपस में पठन-पाठन का माहौल बनाए रखने के लिए उन्होंने यह कदम उठाया। 

साउथ कैंपस में मंगलवार सुबह कुछ छात्र स्टेडियम में संघ का ध्वज लगा कर शाखा लगाए हुए थे। इस बीच, डिप्टी चीफ प्रॉक्टर प्रो. किरण दामले भ्रमण करते हुए वहां पहुंचीं। उन्होने शाखा लगाने वाले छात्रों को अन्यत्र जाने का निर्देश दिया। उन्होंने संघ का ध्वज हटाकर अपने कार्यालय में रखवा दिया। इससे नाराज छात्र धरने पर बैठ गए। जानकारी होते ही नगर विधायक रत्नाकर मिश्र व आरएसएस के जिला कार्यवाह चन्द्रमोहन भी मौके पर पहुंच गए। 

संघ का ध्वज हटाने पर जिला कार्यवाह चन्द्रमोहन ने देहात कोतवाली में मंगलवार देर शाम डिप्टी चीफ प्रॉक्टर के खिलाफ रपट दर्ज करा दी। बुधवार सुबह उन्हें इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने साउथ कैंपस की आचार्य प्रभारी प्रो. रमा देवी निम्नापल्ली को अपना इस्तीफा भेज दिया। उनका इस्तीफा चीफ प्रॉक्टर डा.ओपी राय के पास भेज दिया गया। इस संबंध में साउथ कैंपस की आचार्य प्रो. रमादेवी निम्नापल्ली ने कहा कि मामले को राजनीतिक तूल न दिया जाए। यह विश्वविद्यालय परिसर का मामला है। विश्वविद्यालय प्रशासन इस मामले से निबटने में सक्षम है।

उन्होंने कहा कि डिप्टी चीफ प्रॉक्टर को संघ का ध्वज उतारने से पहले छात्रों से बात करनी चाहिए थी। हालांकि उन्हें ध्वज के नियमों के संबंध में खास जानकारी नहीं थी। विश्वविद्यालय में हर धर्म, समुदाय एवं वर्ग के छात्र-छात्राओं को पूजा-इबादत करने की छूट है। कहा कि डिप्टी चीफ प्रॉक्टर ने उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया है और उन्होंने उसे चीफ प्रॉक्टर के पास भेज दिया है।

14-Nov-2019

Related Posts

Leave a Comment