कर्नाटक में 2 नए उप-मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति हो सकती है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी आलाकमान के इशारे पर सीएम बीएस येदियुरप्पा ने तैयारी पूरी कर ली है। गौरतलब है कि कर्नाटक में फिलहाल तीन उप-मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने पदभार संभाल लिया है। इस तरह राज्य में मुख्यमंत्री के अलावा पांच उप-मुख्यमंत्री हो जाएंगे। रिपोर्ट्स के मुताबिक पार्टी आलाकमान के इस फैसले के दो उद्देश्य हो सकते हैं। पहला, सभी बड़े समुदायों के प्रतिनिधित्व देकर पूरे कर्नाटक में प्रसार करना और वोटबैंक को बढ़ाना। दूसरा, येदियुरप्पा के बाद उनका उत्तराधिकारी तैयार करना। माना जा रहा है कि दो नए उपमुख्यमंत्री एसटी और कुरुबा समुदाय से हो सकते हैं।

मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने 17 नवनियुक्त मंत्रियों को 26 अगस्त को विभागों की जिम्मेदारी सौंपी थी। इन मंत्रियों को करीब एक सप्ताह पहले कैबिनेट में शामिल किया गया था। तीन उपमुख्यमंत्री में गोविंद करजोल को पीडब्ल्यूडी और समाज कल्याण, अश्वत्थ नारायण को उच्च शिक्षा, आईटी और बीटी, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा लक्ष्मण सावदी को परिवहन विभाग का प्रभार दिया गया था। बसवराज बोम्मई को गृह विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गयी थी। 

पूर्व मुख्यमंत्री जगदीश शेट्टार को बड़े और मध्यम स्तरीय उद्योग का मंत्रालय, दो पूर्व उप मुख्यमंत्री-के एस ईश्वरप्पा और आर अशोक को क्रमश: ग्रामीण विकास और पंचायती राज, तथा राजस्व विभाग का प्रभार दिया गया था। वरिष्ठ नेता बी श्रीरामुलू को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री बनाया गया है जबकि एस सुरेश कुमार को प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग का कार्यभार दिया गया था। 

रोचक है कि उपमुख्यमंत्री बनाए गए सावदी ना तो विधानसभा के सदस्य हैं ना ही विधानपरिषद के। कैबिनेट में उनको शामिल करने के कारण भाजपा के कुछ वरिष्ठ विधायकों के बीच असंतोष है।

समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा से इनपुट्स लेकर

07-Sep-2019

Leave a Comment