मीडिया रिपोर्ट 

मलेशिया के मानव संसाधन मंत्री एम कुलसेगरन ने विवादास्पद इस्लामिक धर्मगुरु जाकिर नाइक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। मलेशियन हिंदुओं की निष्ठा के खिलाफ जाकिर के बयान के बाद कुलसेगरन ने मंगलवार (13 अगस्त, 2019) को यह मांग की है। बता दें कि भारत में कथित आतंकी गतिविधियों और धनशोधन में वांछित विवादित जाकिर नाइक को मलेशिया में स्थाई नागरिकता मिली हुई है।

मलेशियाई गठबंधन सरकार में वरिष्ठ हिंदू राजनेताओं में से एक कुलसेगरन ने एक बयान में कहा, ‘भारत में भगोड़े विदेशी को मलेशिया छोड़ने, आतंकवाद और मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों का सामना करने का समय आ गया है।’ कुलसेगरन पूर्व में भी जाकिर नाइक की आलोचना करते हैं। अल्पसंख्यक समुदायों के दो अन्य मंत्रियों के साथ उन्होंने पिछले साल जुलाई में विवादास्पद उपदेशक का मुद्दा उठाया था।

मानव संसाधन मंत्री एम कुलसेगरन जाकिर नाइक द्वारा हाल में दिए उस बयान से खासे नाराज थे जिसमें उसने हिंदुओं की निष्ठा पर सवाल उठाते हुए कहा, ‘मलेशियाई हिंदू अपने प्रधानमंत्री की तुलना में भारतीय प्रधानमंत्री के प्रति ज्यादा वफादार हैं।’

कुलसेगरन ने अपने बयान में कहा, ‘नाइक ने हाल में मलेशियाई हिंदुओं की तुलना भारत में मुसलमानों से की थी। उसने कहा था कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लाभ के बावजूद मलेशिया में हिंदू, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति अधिक निष्ठावान हैं।’ उन्होंने कहा कि मलेशियाई हिंदुओं की निष्ठा पर सवाल उठाने और हमारे बहु-जातीय समाज के प्राकृतिक तंत्र को छूने के बाद विवादास्पद धर्मगुरु के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई किया जाना जरुरी है।

14-Aug-2019

Leave a Comment