लखनऊ। राजधानी लखनऊ के सआदतगंज से 6 महीने पहले लापता हुई रामजानकी (32) का शव बुधवार को मानकनगर निवासी उसके प्रेमी के आंगन में गड़ा मिला। हत्याकांड का खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। जानकारी के अनुसार, सआदतगंज निवासी रामजानकी (32) बीते साल 27 अक्टूबर की रात अचानक घर से लापता हो गई थी। उसकी मां ने दूसरे दिन सआदतगंज थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। एएसपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि जांच पड़ताल में बिजेंद्र कुमार यादव का नाम प्रकाश में आया। 

बिजेंद्र के महिला से थे संबंध

पुलिस ने बताया कि बिजेंद्र कुमार यादव उर्फ मोटू के संबंध महिला से था। इंस्पेक्टर महेश पाल ने बताया कि महिला के फोन का सीडीआर निकाला गया तो गायब होने वाली रात आखिरी कॉल जितेंद्र की मिली। पुलिस घर पहुंची तो पता चला कि कई महीने से घर छोड़कर भागा हुआ था। बुधवार को वह घर आया तो पुलिस ने पकड़ लिया। 

एएसपी पश्चिमी विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया कि रामजानकी के पति की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। 8 साल के बेटे व 5 साल की बेटी को अकेली पाल रही थी। करीब एक साल पहले जितेंद्र से उसका प्रेम संबंध हो गया था। 27 अक्टूबर की रात रामजानकी उसके घर पहुंचीं तो वह शराब के नशे में धुत था। वहां दोनों के बीच झगड़ा हुआ और विजेंद्र ने ईंट से रामजानकी पर हमला कर दिया। सिर पर ईंट लगने से वह लहूलुहान होकर गिर पड़ी। इसके बाद विजेंद्र ने कमरे में बिखरा खून साफ किया और घर के पीछे स्थित खाली जगह पर गड्ढा खोदकर उसे गाड़ दिया। पुलिस ने विजेंद्र के घर जाकर उक्त जगह पर खोदाई की जहां रामजानकी का कंकाल मिल गया। 

03-May-2019

Related Posts

Leave a Comment