नई दिल्ली 

साल 2016 में उरी हमले के बाद पाकिस्तान पर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक के कमांडिंग ऑफिसर रहे लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा ने कांग्रेस में शामिल होने की खबरों को खारिज कर दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई के कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के सवाल पर जनरल हुड्डा ने कहा, "मैं कांग्रेस पार्टी में शामिल नहीं हुआ हूं।" कांग्रेस ने जनरल हुड्डा को राष्ट्रीय सुरक्षा पर विजन डॉक्यूमेंट तैयार करने को कहा है। 

बता दें कि लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हु़ड्डा (रिटायर्ड) उरी में सेना के कैंप पर हुए आतंकी हमले और इसके बाद 29 सितंबर 2016 को पाकिस्तान पर हुए सर्जिकल स्ट्राइक के वक्त नॉर्दन कमांड के  जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ थे और पूरे ऑपरेशन के अगुआ थे। वे नवंबर 2016 में सेवानिवृत्त हो गए थे।  विपक्षी दल कांग्रेस ने एक बयान जारी कर कहा था, "कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय सुरक्षा पर विजन डॉक्यूमेंट तैयार करने के लिए एक टास्क फोर्स का गठन कर रही है।" 

बयान में कहा गया कि लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हु़ड्डा इस टास्क फोर्स के प्रमुख होंगे और चुनिंदा विशेषज्ञों के साथ मिलकर दस्तावेज तैयार करेंगे।  लेकिन हुड्डा के नकार देने के बाद सारी अटकलों पर विराम लग गया है।  सर्जिकल स्ट्राइक के बाद लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हु़ड्डा का एक बयान काफी सुर्खियों में रहा था, जिसमें उन्होंने कहा था कि इस घटना को थोड़ा ज्यादा ही हाइप दिया गया और थोड़ा सियासी बन गया। मगर सेना के लिहाज से कहें तो हमें इसको करने की जरूरत है और हमने उसे बखूबी अंजाम दिया। 

22-Feb-2019

Related Posts

Leave a Comment