नई दिल्ली: एक लेख लिखकर रेल मंत्री पीयूष गोयल पर आक्षेप लगाने तथा वरिष्ठ सरकारी अधिकारियों की बुद्धिमता पर सवाल उठाने वाले केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह के विशेष कार्याधिकारी (ओएसडी) के कार्यकाल में केंद्र ने सोमवार को कटौती कर दी. कार्मिक मंत्रालय के एक आदेश के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति ने 2005 बैच के इंडियन रेलवे पर्सनल सर्विस (आईआरपीएस) के अधिकारी संजीव कुमार को उनके पुराने विभाग में वापस भेजने की मंजूरी दे दी. 

रेल मंत्रालय ने कार्मिक मंत्रालय से कुमार को ‘आधिकारिक शिष्टाचार का उल्लंघन' के लिए तत्काल उनके पुराने विभाग में भेजे जाने के संबंध में एक पत्र लिखा था. पत्र लिखने के एक महीने के बाद यह कदम उठाया गया है. रेलवे बोर्ड के तत्कालीन सचिव रंजनेश सहाय ने अपने एक पत्र में कार्मिक मंत्रालय को लिखा था कि आईआरपीएस संजीव कुमार के आधिकारिक शिष्टाचार का उल्लंघन करने का मामला रेलवे बोर्ड के संज्ञान में लाया गया है. 

कुमार ने एक लेख लिखा था जो रेलसमाचार.कॉम और नेशनलव्हील्स.कॉम में प्रकाशित हुआ था. जिसकी वजह से उन पर यह आरोप लगे हैं. इस लेख में भारत सरकार के सचिव स्तर के अधिकारियों की बुद्धिमता पर सवाल उठाने के साथ ही रेल मंत्री (पीयूष गोयल) पर भी आक्षेप लगाए गए थे.

19-Feb-2019

Related Posts

Leave a Comment