एजेंसियों से 

वॉशिंगटन। सीएनएन और अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच जारी जंग में फिलहाल सीएनएन का बड़ी जीत हासिल हुई है। अमेरिका की एक कोर्ट की ओर से व्‍हाइट हाउस को ऑर्डर दिया गया है कि वह सीएनएन के रिपोर्टर जिम एकोस्‍ट का प्रेस कार्ड बहाल करे। पिछले दिनों व्‍हाइट हाउस में हुई एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस के दौरान राष्‍ट्रपति ट्रंप और एकोस्‍टा के बीच एक सवाल को लेकर काफी बहस हुई थी। इसके बाद व्‍हाइट हाउस ने एकोस्‍ट को बैन कर दिया था। अमेरिकी कोर्ट की ओर से कहा गया है कि जब तक इस मामले की सुनवाई पूरी नहीं हो जाती है तब तक एकोस्‍ट का प्रेस कार्ड बहाल किया जाए। 

सीएनएन और दूसरे मीडिया ग्रुप जिसमें ट्रंप का फेवरिट फॉक्‍स न्‍यूज भी शामिल है, उसने केस का समर्थन किया था। केस में कहा गया था कि एकोस्‍टा को बैन करना संविधान के तहत मिली प्रेस की आजादी के नियम का उल्‍लंघन है। सीएएन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक ट्रंप की ओर से बेंच के लिए नियुक्‍त किए गए टिमोथी केली की ओर से यह आदेश व्‍हाइट हाउस के लिए जारी किया गया है। केली ने कहा है कि उनका आदेश एक जर्नलिस्‍ट के लिए 'सही प्रक्रिया' पर आधारित था और वह स्वतंत्र प्रेस गारंटी के पहले संशोधन के साथ ही बाकी वैधानिक मुद्दों के दांव पर लगे होने को लेकर अलग से सुनवाई करेंगे।

वाशिंगटन कोर्ट में केली ने कहा कि वह इस बात को साफ कर देना चाहते हैं कि उन्‍होंने अभी इस पर कोई फैसला नहीं लिया है कि पहले संशोधन का उल्‍लंघन हुआ है या नहीं। वहीं व्‍हाइट हाउस की ओर से कोर्ट के फैसले पर कहा गया है कि कोर्ट के फैसले का पालन किया जाएगा। व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी सारा सैंडर्स ने कहा कि कोर्ट ने साफ कर दिया है कि व्हाइट हाउस में प्रवेश के लिए पहले संशोधन के तहत कोई पूर्ण अधिकार नहीं है। अदालत के फैसले के मद्देनजर एकोस्‍ट का हार्ड पास अस्थाई तौर पर बहाल करेंगे।। 

17-Nov-2018

Leave a Comment