एजेंसी 

नई दिल्ली। मनोहर पर्रिकर की त​बीयत खराब होने के कारण गोवा के मुख्यमंत्री पद को लेकर ऊहापोह की स्थिति बनी हुई थी। हालांकि, गोवा के सीएम पद के लिए नए चेहरे को लेकर लगाई जा रही अटकलों पर विराम तब लगा था जब रविवार को बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने साफ कर दिया था कि मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। वहीं, बीजेपी के इस फैसले पर शिवसेना ने हमला बोलते हुए इसे क्रूर और अमानवीय करार दिया है। 

शिवसेना के मुखपत्र सामना में बीजेपी द्वारा मनोहर पर्रिकर को गोवा का सीएम बनाए रखने के फैसले की कड़ी आलोचना की गई है। सामना के संपादकीय में कहा गया है कि पार्टी को डर था कि कहीं उनके हाथ से गोवा निकल न जाए। पार्टी में पर्रिकर के स्थान पर गोवा का सीएम बनने लायक कोई योग्य चेहरा नहीं होना, प्रदेश बीजेपी के लिए मुसीबत का सबब बन गया था। 

मनोहर पर्रिकर का इलाज इस वक्त दिल्ली स्थित एम्स में चल रहा है। शिवसेना ने कहा कि वे इस वक्त गोवा में नहीं है। पर्रिकर के कैंसर का इलाज दिल्ली के अस्पताल में चल रहा है। इस स्थिति में उन्हें गोवा का सीएम बनाए रखने का फैसला राज्य ही नहीं, उनके साथ भी अन्याय है। शिवसेना ने कहा कि पर्रिकर के स्वास्थ्य के लिए इस वक्त तनाव हानिकारक साबित होगा। लेकिन बीजेपी आलाकमान को ये बात कौन समझाए। बीजेपी को पर्रिकर की सेहत से अधिक गोवा के हाथ से चले जाने का डर है। 

25-Sep-2018

Leave a Comment