सैन फ्रांसिस्को: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अदालत के आदेश के बाद अपने कुछ आलोचकों को ट्विटर पर अनब्लॉक कर दिया है. अदालत ने ट्रंप से कहा था कि वो इस तरह से अपने आलोचकों का मुंह नहीं बंद कर सकते हैं. फेडरल डिस्ट्रिक्ट जज ने मई में फटकार लगाते हुए आदेश दिया था कि राष्ट्रपति के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट से ब्लॉक किया जाना अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकारों के पहले संशोधन (फर्स्ट अमेंडमेंट) का उल्लंघन है. ट्रंप द्वारा लोगों को ब्लॉक किये जाने के खिलाफ कोलंबिया यूनिवर्सिटी में 'द नाइट फर्स्ट अमेंडमेंट इंस्टीच्यूट' ने अपील किया था. ट्रंप ने उन सात लोगों को अनब्लॉक किया है जिनके नाम मुकदमे में थे. संस्था ने कल ट्वीट किया कि उसे मिली सूचना के अनुसार न्याय मंत्रालय के पास मौजूद एक लिस्ट में से 41 अन्य लोगों को भी डोनाल्ड ट्रंप के ट्विटर एकाउंट ने अनब्लॉक कर दिया है.

संस्था ने कहा कि हमें खुशी है कि व्हाइट हाउस ने जिला अदालत के फैसले का पालन करने के लिए कदम उठाया है. अदालत ने अपने फैसले में कहा था कि संविधान राष्ट्रपति को उनकी आलोचना करने वालों को ट्विटर पर ब्लॉक करने से रोकता है. हालांकि, संस्था ने कहा कि उसे सूचना मिली है कि इस लिस्ट से बाहर अभी भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो राष्ट्रपति के ट्विटर अकाउंट पर ब्लॉक हैं.

 

30-Aug-2018

Leave a Comment