चंडीगढ़ : 

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के एक अजीबो-गरीब फरमान का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर बुधवार (22 अगस्त) को जमकर वायरल हुआ। फरमान में कहा गया, ‘बिना गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड के जो भी कॉलेज में दिखेगा, उस पर कार्रवाई होगी और जुर्माना लगाया जाएगा।’ ये बातें इसमें प्रबंधन के हवाले से कही गई थीं। लेकिन जब यूनिवर्सिटी प्रबंधन के सामने इसका स्क्रीनशॉट वायरल होते हुए पहुंचा, तो हकीकत सामने आई। दरअसल, यूनिवर्सिटी के ही एक छात्र ने शरारत में फर्जी लेटर टाइप कर के वायरल किया था। प्रबंधन के नाम पर उसी ने यूनिवर्सिटी कैंपस में गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड को जरूरी बताने वाले अनोखे नियम की बात कही। नोटिस में लिखा था, “13 अगस्त के बाद हर किसी को गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड बनाना जरूरी होगा। अगर ऐसा न हुआ तो छात्र-छात्राओं को सस्पेंड किया जा सकता है। उन पर 1000 रुपए तक का जुर्माना भी लगाया जा सकता है।”

यही नहीं, लेटर में बताया गया- एक छात्र एक ही गर्लफ्रेंड रख सकेगा। कॉलेज के नाम पर यह फर्जी नोटिस जब लोगों के पास पहुंचा, तो वे दंग रह गए। बाद में इस बारे में प्रबंधन विभाग को इसकी खबर हुई। जांच-पड़ताल के बाद आरोपी छात्र का पता लगाया, जिसके बाद उसे यूनिवर्सिटी से निकाल दिया गया। आरोपी की पहचान उत्तर प्रदेश के अभिषेक के रूप में हुई है। वह यहां पर कंप्यूटर सांइस विषय में इंजीनियरिंग की पढ़ाई (प्रथम वर्ष) कर रहा था। पूछताछ में उसने अपनी गलती कबूल ली है। आरोपी ने यह अजीबो-गरीब और फर्जी फरमान महज मजाक के लिए जारी किया था, जिसे उसने 13 अगस्त को तैयार किया। आरोपी ने इसमें चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के डायरेक्टर स्टूडेंट वेलफेयर अरविंदर सिंह कंग के नाम इस्तेमाल किया। लेटर पूरा बनने के बाद उसने वॉट्सऐप पर कुछ लोगों को इसका स्क्रीनशॉट भेजा, जहां से यह फरमान वायरल हो गया था।

साभार : जनसत्ता से 

23-Aug-2018

Leave a Comment