नई दिल्ली। देश के बहुचर्चित आरुषि तलवार हत्या मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई की ओर से दायर अपील को स्वीकार कर लिया है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा याचिका स्वीकार करने के बाद एक बार फिर से राजेश तलवार और नुपुर तलवार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बता दें कि, तलवार दंपती के घरेलू नौकर हेमराज की पत्नी खुमकला और जांच एजेंसी सीबीआइ ने हाईकोर्ट द्वारा पिछले साल तलवार दंपती को संदेह का लाभ देते हुए रिहा करने के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है।   

सुप्रीम कोर्ट ने  शुक्रवार को तीनों याचिकाओं पर एक साथ सुनवाई की। बता दें कि, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने अपने फैसले में सबूतों को लेकर सीबीआई को कड़ी फटकार लगाई थी। हाईकोर्ट द्वारा तलवार दंपती को बरी किए जाने के बाद नेपाल में रह रही हेमराज की पत्नी खुमकला बंजाडे ने जनवरी 2018 में इस मामले की फिर से जांच करने के लिए याचिका दायर की थी। खुमकला की याचिका के बाद सीबीआइ ने भी मार्च 2018 में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी। जिसे सर्वोच्च अदालत ने आज स्वीकार कर लिया है। गौरतलब है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अक्टूबर 2017 को आरुषि तलवार और नेपाली मूल के नौकर हेमराज की हत्या के आरोप में गाजियाबाद की डासना जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे डॉ. राजेश तलवार और उनकी पत्नी डॉ. नूपुर तलवार को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था। 

10-Aug-2018

Related Posts

Leave a Comment