बिहार के मुंगेर जिले में मंगलवार की शाम करीब चार बजे एक बोरवेल में गिरी तीन साल की एक बच्ची करीब 30 घंटे तक चले बचाव अभियान के बाद सकुशल बाहर निकाल ली गई. जिले में कोतवाली थाना क्षेत्र के मुर्गीयाचक मोहल्ला में एक घर के आंगन में समरसेबुल बोरिंग के लिए किए गए 165 फुट बोरवेल में सन्नो नाम की यह बच्ची सोमवार को गिर गई थी. वह अपने ननिहाल आई हुई थी और खेलने के दौरान वह बोरवेल में गिर गई थी.


सीएम नीतीश कुमार ने आज रात 9.45 बजे सन्नो को बोरवेल से सकुशल निकाल लिए जाने पर खुशी एवं संतोष व्यक्त किया. उन्होंने इसके साथ ही परिजनों एवं बचाव दल के तमाम सदस्यों को भी बधाई दी है. उन्होंने बचाव में शामिल आपदा प्रबंधन विभाग, एनडीआरएफ, एसडीआरएफ एवं जिला प्रशासन की टीम को धन्यवाद देते हुए कहा कि विपरीत परिस्थितियों के बाद भी सन्नो का बोरवेल से सकुशल निकाला जाना बेहतर टीम समन्वय का परिणाम है.
सीएम ने दिए निर्देश
मुख्यमंत्री ने सन्नो को बेहतर चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने का भी निर्देश दिया है और उसके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की. सन्नो को बोरवेल से निकाले जाने के बाद वहां मौजूद चिकित्सकों की टीम उसे एक एम्बुलेंस से सदर अस्पताल ले गए और वहां उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया है.
शाह ने किया ट्वीट
पुलिस अधीक्षक गौरव मंगला ने बताया बच्ची के बोरवेल में गिरने के बाद जिला पुलिस और प्रशासन को सूचना मिलने पर बचाव कार्य तुरंत शुरू किया गया था. 45 फीट गहराई पर बोरवेल में फंसी सन्नो को सिलेंडरों और पाइपों की मदद से ऑक्सीजन प्रदान किया गया. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बच्ची को बोरवेल से निकालने के लिए आपदा प्रतिक्रिया सेवाओं को बधाई दी. शाह ने एक ट्वीट कर कहा कि एनडीआरएफ और राज्य आपदा मोचन बल के कर्मियों ने उसे बाहर निकालने के लिए घंटों अथक कार्य किया. उन्होंने बच्ची की कुशलता की कामना भी की.

 

02-Aug-2018

Leave a Comment