तोक्यो: दुनिया के सबसे विकसित देशों में शुमार जापान इन दिनों भारी बारिश के सामने लाचार नजर आ रहा है। मूसलाधार बारिश ने ऐसा कहर मचाया है कि कई लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है, जबकि दर्जनों लोगों का पता ही नहीं चल पा रहा। रिपोर्ट्स के मुताबिक, दक्षिण पश्चिम जापान में बाढ़ और मूसलाधार बारिश से कम से कम 15 लोगों की मौत हो गई है और 50 से भी ज्यादा लोग लापता हैं। इस सप्ताह की शुरुआत से हो रही बारिश में जहां मृतकों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है, वहीं ओकायामा प्रांत में भूस्खलन में फंसे एक व्यक्ति को मृत घोषित कर दिया गया। 

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हिरोशिमा में भूस्खलन से एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई। बाढ़ग्रस्त इलाके से एक बच्चे का शव भी बरामद हुआ है। लापता लोगों में से 5 हिरोशिमा प्रांत में एक घर ढहने से मलबे में दब गए। वहीं, एहिमे प्रांत में भूस्खलन से प्रभावित एक घर की दूसरी मंजिल पर एक महिला का शव बरामद हुआ है। बारिश से प्रभावित एक अन्य प्रांत यामागुची में लोगों से सावधानी बरतने और तेजी से कदम उठाने को कहा गया हे। क्योटो प्रांत में विभिन्न बांधों पर बाढ़ को नियंत्रित करने का कार्य जारी है। 

बताया जा रहा है कि क्योटो में 250 लोगों को अपने घर छोड़ने पड़े हैं, और 52 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई है। कई इलाकों में सड़क मार्ग बंद हैं, जहां भूस्खलन की चेतावनी जारी कर दी गई है। ओकायामा प्रांत ने कहा कि सेना के पानी के टैंकर से उन इलाकों में पानी पहुंचाया जा रहा है जहां जल प्रणाली ने काम करना बंद कर दिया है। हालांकि जापान एशिया का सबसे विकसित देश है, लेकिन ग्रामीण इलाके हर साल भारी बारिश से प्रभावित होते हैं और अक्सर इसमें भारी नुकसान होने के साथ कई हताहत होते हैं।

07-Jul-2018

Related Posts

Leave a Comment