एजेंसी 

नई दिल्ली : महंगाई और बेरोजगारी पर देशव्यापी हल्लाबोल शुरू करने से पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने दिल्ली में एक प्रेस कॉन्फ्रेन्स को संबोधित करते हुए कहा कि मौजूदा दौर में हम लोकतंत्र की मौत देख रहे हैं. उन्होंने कहा कि भारत ने लगभग एक सदी पहले जो कुछ भी ईंट-पत्थरों से बनाया था, वह आपकी आंखों के सामने नष्ट किया जा रहा है.

बेतहाशा बढ़ चुकी महंगाई और बेरोज़गारी के खिलाफ कांग्रेस आज देशभर में विरोध प्रदर्शन कर रही है. राहुल गांधी समेत कांग्रेस के कई बड़े नेता राष्ट्रपति भवन तक मार्च के लिए निकले लेकिन उन्हें रास्ते में रोक दिया गया. राहुल गांधी समेत कई नेताओं को हिरासत में लिया गया है.

कांग्रेस सांसदों ने महंगाई और बेरोज़गारी पर अपना विरोध दर्ज कराने के लिए संसद से राष्ट्रपति भवन तक जाने के लिए मार्च निकाला. कांग्रेस सांसद राहुल गांधी भी मार्च में शामिल हुए, हालांकि मार्च को विजय चौक पर रोक दिया गया और सांसद वहीं धरने पर बैठ गए. इसके बाद पुलिस ने राहुल गांधी समेत कई नेताओं को हिरासत में ले लिया.

बढ़ती कीमतों और बेरोजगारी के विरोध में कांग्रेस सांसदों ने आज संसद में काले रंग के कपड़े पहनकर वेल में नारेबाजी की. राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई, क्योंकि कांग्रेस सदस्यों ने सरकार द्वारा जांच एजेंसियों के कथित दुरुपयोग पर हंगामा किया.

पार्टी ने एक बयान में कहा कि कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) के सदस्य और वरिष्ठ नेता "पीएम हाउस घेराव" में हिस्सा लेंगे, जबकि लोकसभा और राज्यसभा सांसद संसद से "चलो राष्ट्रपति भवन" में हिस्सा लेंगे.

प्रशासन ने कांग्रेस के मार्च से पहले दिल्ली के कुछ हिस्सों में बड़ी सभाओं पर प्रतिबंध लगाने के लिए निषेधाज्ञा लागू कर दी है. प्रतिबंधों का हवाला देते हुए दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस को राष्ट्रीय राजधानी में विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है.

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष और सांसद सोनिया गांधी ने संसद में महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ पार्टी सांसदों के विरोध का नेतृत्व किया.

05-Aug-2022

Related Posts

Leave a Comment