कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी की पंजाब इकाई का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

सिद्धू की नियुक्ति राज्य इकाई में महीनों तक चली खींचतान के बाद हुई क्योंकि पूर्व क्रिकेट ने कई मुद्दों पर कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार के खिलाफ खुलेआम बगावत कर दी थी।

सिद्धू के अलावा, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संगत सिंह गिलजियान, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा को भी पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है।

कांग्रेस अध्यक्ष ने नवजोत सिंह सिद्धू को तत्काल प्रभाव से पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने संगत सिंह गिलजियान, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा को पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया है।

अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिंधु के साथ कांग्रेस आलाकमान के बीच कई दौर की बैठकों के बाद यह फैसला आया।

अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी नेता नवजोत सिंह सिद्धू की प्रदेश कांग्रेस कमेटी (पीसीसी) प्रमुख के रूप में संभावित नियुक्ति के बारे में आशंका व्यक्त की थी।

पंजाब के प्रभारी कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने 17 जुलाई को मोहाली में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात की। बाद में उन्होंने कहा कि अमरिंदर सिंह ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वह पार्टी आलाकमान द्वारा लिए गए किसी भी फैसले का सम्मान करेंगे।

हालांकि, रावत ने दोहराया कि अमरिंदर सिंह आगामी विधानसभा चुनावों के लिए पार्टी के मुख्यमंत्री पद का चेहरा बने रहेंगे क्योंकि उनके शासन ने राज्य के लोगों से प्रशंसा अर्जित की है और इसलिए भी कि “पंजाबी अपने राजनीतिक नेतृत्व के साथ प्रयोग नहीं करना चाहते हैं।”

रावत ने शुक्रवार को सोनिया गांधी से मुलाकात की थी और पंजाब कांग्रेस में प्रस्तावित बदलावों को लेकर अपनी रिपोर्ट सौंपी थी. बैठक के दौरान सिद्धू भी मौजूद थे। अमरिंदर सिंह ने पिछले हफ्ते सोनिया गांधी से भी मुलाकात की थी।

19-Jul-2021

Related Posts

Leave a Comment