हाईकोर्ट में याचिका दायर कर राजधानी में आयोजित होने वाले आईपीएल मैचों के आयोजन पर रोक लगाने का निर्देश केंद्र, दिल्ली सरकार, बीसीसीआई और डीडीसीए को देने का आग्रह किया गया है।

 

एजेंसी की  खबर के अनुसार, याचिका में कहा गया है कि इन मैचों को राजधानी में होने से रोका जाए और स्टेडियम का इस्तेमाल कोरोना से राहत के लिए किया जा सकता है।

ये याचिका सोमवार को न्यायमूर्ति प्रतिभा एम सिंह के समक्ष सुनवाई के लिए आई। उन्होंने कहा कि याचिका जनहित से जुड़ी है।

इसलिए उसे सुनवाई के लिए उपयुक्त पीठ के समक्ष भेजने का निर्देश दिया।

पेश याचिका अधिवक्ता करण एस ठुकराल ने दायर की है। याची का तर्क है कि ऐसे हालात में जब लोग बिस्तरों, आक्सीजन की कमी से जूझने के साथ ही अपने परिजनों का अंतिम संस्कार कर रहे हैं तो ऐसे हालात में राजधानी में आईपीएल का आयोजन अतार्किक व अनुचित है।

एक आईपीएल मैच 28 अप्रैल को फिरोज शाह कोटला स्टेडियम (अब अरुण जेटली स्टेडियम) में खेला जा चुका है। अंतिम मैच आठ मई को राजधानी में खेला जाना है। इस दौरान राजधानी में कुल आठ मैच खेले जाने हैं।

याचिका में कहा गया है कि एक ओर तो लोग अस्पतालों में बेड की कमी से मर रहे हैं और अपने के अंतिम संस्कार के लिए लाइन में लगे हुए हैं।

वहीं दूसरी ओर संसाधनों का सही प्रयोग करने के बजाय प्रतिवादी आईपीएल का समर्थन और आयोजन कर रहे हैं।

 
 
04-May-2021

Leave a Comment