तिरुवनंतपुरम, 5 अप्रैल । केरल के कयामकुलम विधानसभा क्षेत्र में माकपा विधायक प्रतिभा हरि कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही हैं। अब उनकी मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं। वजह यह है कि उनकी पार्टी के अलप्पुझा के सांसद ए.एम. आरिफ ने 26 वर्षीय कांग्रेसी प्रतिद्वंद्वी पर आपत्तिजनक टिप्पणी की और इसके लिए उन्हें काफी आलोचना झेलनी पड़ी।

हरि को उम्मीद थी कि अलप्पुझा जिले में स्थित निर्वाचन क्षेत्र से दूसरे कार्यकाल के लिए उन्हें वॉकओवर मिल जाएगा, लेकिन उनकी उम्मीदों का उस समझ झटका लगा जब पार्टी में कुछ गुटीय झगड़े उभरकर सामने आए और, जब चीजें सुलझती दिखाई दीं, तो कांग्रेस ने अरिथा बाबू को मैदान में उतारने का फैसला किया। अरिथा गायों का पालन-पोषण करके और उनके दूध को बेचकर अपनी आजीविका चलाते हैं। बहरहाल, कांग्रेस के इस फैसले ने उनके लिए चीजों को फिर से अनिश्चित बना दिया।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने खुद अरिथा बाबू के लिए चुनाव प्रचार किया और उनके घर भी गईं। इस कारण से यह अब प्रतिष्ठा की लड़ाई बन गई है।

इसी बीच, आरिफ ने अपने भाषण में कहा कि 6 अप्रैल का चुनाव केरल विधानसभा के लिए एक सदस्य का चुनाव करने के लिए है, न कि एक दुग्ध विक्रेता समाज के लिए। उनका यह बयान वायरल हो गया और हर हल्कों में इसकी आलोचना हुई।

बाबू ने स्वयं कहा कि यह ऐसा बयान नहीं था, जिसकी माकपा के लोकसभा सदस्य से अपेक्षा की गई थी।
उन्होंने कहा, माकपा का दावा है कि यह मजदूर वर्ग की पार्टी है और आरिफ द्वारा दिया गया यह बयान पूरे कामकाजी वर्ग को छोटा करके दर्शाता है परेशान करता है, जो कठिन परिश्रम करके अपनी आजीविका चलाता है।

नेता प्रतिपक्ष रमेश चेन्निथला ने आरिफ को अपना बयान वापस लेने और माफी मांगने को कहा।

उन्होंने कहा कि इस तरह का बयान कभी भी नहीं दिया जाना चाहिए..यह बाबू का अपमान है, क्योंकि वह दूध बेचकर आजीविका चलाते हैं। कयामकुलम के मतदाता आरिफ के बयान का जवाब देंगे।

Source: IANS

06-Apr-2021

Related Posts

Leave a Comment