केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के हमले में सुरक्षा बल के 22 जवानों के मारे जाने की घटना के मद्देनजर राज्य में सुरक्षा हालात की समीक्षा के लिए रविवार को एक उच्च स्तरीय बैठक की।

 

एजेंसी की खबर के अनुसार, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, खुफिया ब्यूरो के निदेशक अरविंद कुमार, गृह मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) ने बैठक में हिस्सा लिया।

मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्री ने छत्तीसगढ़ में सुरक्षा हालात की समीक्षा के लिए बैठक की। शनिवार को नक्लियों के हमले में सुरक्षा बल के कम से कम 22 जवान शहीद हो गये।

पांच जवानों के शव शनिवार को और 17 जवानों के शव रविवार को बरामद हुए। घटना की जानकारी मिलने पर शाह ने असम का चुनावी दौरा बीच में ही समाप्त किया और दिल्ली पहुंच गये।

गृह मंत्री ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से बातचीत करके हालात का जायजा लिया। शहीद हुए जवानों में सीआरपीएफ की कोबरा यूनिट, डिस्ट्रिक रिजर्व गार्ड (डीआरजी) और विशेष कार्य बल के जवान शामिल थे।


छत्तीसगढ़ में हल्की मशीन गन (एलएमजी) से लैस करीब 400 नक्सलियों के एक समूह ने विशेष अभियान के लिए तैनात सुरक्षा बलों पर घात लगाकर हमला किया जिसमें कम से कम 22 जवान शहीद हो गये और 30 अन्य घायल हो गये।

सीआरपीएफ के महानिदेशक ने बताया कि नक्सलियों ने सुरक्षा बलों के उस दल पर देश में बने अंडर बैरल ग्रेनेड लांचर (यूबीजीएल) से गोले दागे जो एक अभियान के बाद जोगागुंडम से लौट रहा था।

उन्होंने कहा कि ग्रेनेड अचानक दागे गए। हालांकि, जल्द ही स्थिति को नियंत्रित किया गया और जवाब में ग्रेनेड दागे गये। लेकिन नक्सली घात लगाकर लगातार फायरिंग करते रहे।

 

 
 
05-Apr-2021

Related Posts

Leave a Comment