केरल में विधानसभा चुनाव के ठीक पहले “मेट्रो मैन” ई श्रीधरन ने बीजेपी में शामिल होने का ऐलान कर सबको चौंका दिया।

श्रीधरन ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा कि यह केवलप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से की गई प्रशंसा नहीं है, बल्कि बीजेपी के मूल्य हैं, जिन्होंने उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए प्रेरित किया।

श्रीधरन ने कहा कि वह बीजेपी को सांप्रदायिक पार्टी के तौर पर नहीं देखते हैं, बल्कि यह देश से प्रेम करने वालों की पार्टी है।

द तड़का न्यूज़ डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, श्रीधरन ने कहा कि केरल में उन्होंने हिन्दू और ईसाई लड़कियों को बहलाने-फुसलाने का काम किया जा रहा है, जिसे बीजेपी लव जिहाद का नाम देती है।

88 साल की उम्र में राजनीति में प्रवेश पर श्रीधरन ने कहा, मैं अपनी पेशेवर जिम्मेदारियों को लेकर बहुत व्यस्त था। मैं अभी भी समाज और खासकर अपने राज्य केरल के लिए कुछ करना चाहते हैं. राजनीति में आने की उनकी यही वजह है।

श्रीधरन ने कहा कि पिछले 15-20 सालों में केरल में एलडीएफ या यूडीएफ की सरकार रही, लेकिन राज्य में बड़ा बदलाव नहीं देखा गया। 20 साल में एक भी इंडस्ट्री केरल में नहीं लगी।भ्रष्टाचार भी चरम पर है।

मेट्रो मैन ने कहा,बीजेपी का भले ही केरल में एक विधायक हो, लेकिन मैं पार्टी की छवि बदलने और उसे आगे ले जाने के लिए इससे जुड़ा हूं।

श्रीधरन ने कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी से पहले अटल बिहारी वाजपेयी से भी उनके अच्छे रिश्ते थे। देश के प्रति प्रेम और देश के हितों के लिए सेवा करने का जज्बा बीजेपी में है।

बीजेपी शासित राज्यों में लवजिहाद के कानून और केरल में बीफ के मसले पर श्रीधरन ने कहा, मैं पूरी तरह शाकाहारी हूं और अंडा भी नहीं खाता।

केरल में मैंने देखा है कि हिन्दू और ईसाई लड़कियों को बहलाने-फुसलाने का काम किया जा रहा है और वे परेशान होती हैं, मुस्लिम लड़कियों को भी इसके जाल में फंसाया जा रहा है, जिसका मैं विरोध करता हू्ं।

 

 
20-Feb-2021

Leave a Comment