मुंबई के नागपाड़ा स्थित सिटी सेंटर मॉल में लगी आग 12 घंटे बाद भी बुझ नहीं पाई है।

 

एजेंसी की  खबर के अनुसार, आग बुझाने के लिए दमकल विभाग के करीब 250 अधिकारी और जवान लगे हुए हैं। हालात पर काबू न पाते देख मुम्बई फायर ब्रिगेड ने उसे ब्रिगेड कॉल डिक्लेअर कर दिया है।

जानकारी के मुताबिक मॉल में आग के साथ ही घना काला धुआं भी निकल रहा है। इसके चलते आसपास की हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले लोगों को सांस की दिक्कत हो रही है।

हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस-प्रशासन ने मॉल के साथ सटी 55 मंजिला ऑर्किड एंक्लेव बिल्डिंग को खाली करा लिया है। इस बिल्डिंग में रहने वाले करीब 35 सौ लोगों को घरों से निकालकर सुरक्षित जगहों पर शिफ्ट कराया गया है।

बता दें कि गुरुवार रात 9 बजे मॉल में बनी एक मोबाइल के शॉप में आग लग गई। आग धीरे-धीरे बढ़कर पूरे मॉल में फैल गई। मॉल में वेंटिलेशन की समुचित व्यवस्था नही होने की वजह से काफी ज्यादा धुआं भर गया था।

जिस वक्त मॉल में आग लगी, उस समय वहां पर करीब 300 लोग मौजूद थे। मुम्बई पुलिस और फायर ब्रिगेड के कर्मचारियों ने मॉल के शीशे तोड़कर और इमरजेंसी डोर के जरिए सुरक्षित तरीके से बाहर निकाल लिया।

मॉल में लगी आग बुझाने के लिए आसपास के फायर स्टेशन की दर्जनों गाड़ियां लगी हुई हैं। इसके बावजूद आग न बुझते देख फायर डिपार्टमेंट ने अब उसे ब्रिगेड कॉल डिक्लेअर कर दिया है।

इसका मतलब होता है कि आग इतनी भयंकर है कि दमकल विभाग के काबू से बाहर हो गई है और विभाग ने आग से निपटने में एक्सपर्ट पेट्रोलियम कंपनियों HPCL, BPCL, BPT से मदद मांगी है। मॉल में लगी इस आग को बुझाने के दौरान दो दमकल कर्मी घायल हो गए। जिन्हें JJ अस्पताल भेजा गया है।

 
 
23-Oct-2020

Related Posts

Leave a Comment