मुंंबई महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)द्वारा आहूत एक बैठक में कहा कि राज्य सरकार पूरी कोशिश कर रही है कि प्रदेश में कोविड-19 (Covid-19)का दोबारा प्रकोप न फैल पाए.आधिकारिक बयान के अनुसार, ठाकरे ने यह भी कहा कि महामारी उन्मूलन के लिए राज्य के प्रत्येक जिले में अस्पताल बनाए जाएंगे. सीएम ने कहा कि महाराष्ट्र ने कोरोना वायरस संक्रमण या संक्रमण हुई मौत का एक भी मामला नहीं छुपाया है और पूरी पारदर्शिता के साथ आंकड़े साझा किए हैं. पीएम मोदी ने मंगलवार को गुजरात, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, पंजाब, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु, बिहार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस पर बात कर कोविड-19 से निपटने के उपायों की समीक्षा की. बैठक में प्रधानमंत्री ने कोविड-19 से होने वाली मौतों का दर एक प्रतिशत से भी कम करने की जरुरत पर बल दिया.

बयान के अनुसार, ठाकरे ने कहा, ‘‘राज्य में मृत्यु दर को कम किया जा रहा है और मुंबई के धारावी और वर्ली में हालात नियंत्रित करने लिए तारीफ हो रही है.”उन्होंने कहा, ‘‘लड़ाई अभी खत्म नहीं हुई है. प्रयास जारी हैं कि राज्य में कोविड-19 दोबारा सर ना उठा सके.”मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा देखा गया है कि कोरोना वायरस संक्रमण से मुक्त होने के बाद उन लोगों को अन्य संक्रमण हो गया, ऐसे लोगों के इलाज के लिए तंत्र तैयार किया जाना चाहिए.उन्होंने अलग-अलग तरह के वायरस कैसे और कहां से आते हैं, यह पता लगाने के लिए अनुसंधान पर भी जोर दिया.

ठाकरे ने गैर-पेशेवर पाठ्यक्रमों के लिए अंतिम वर्ष की परीक्षा नहीं लेने की बात भी दोहरायी ताकि स्‍टूडेंट्स के जीवन को खतरे में ना डाला जाए.उन्होंने कहा कि राज्य में 3.5 लाख बिस्तर ऐसे हैं जिनमें वेंटिलेटर और अन्य उपकरण जुड़े हुए हैं. इस बैठक में केन्द्रीय मंत्रियों राजनाथ सिंह, निर्मला सीतारमण और हर्षवर्धन ने भी भाग लिया. इसमें महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी हिस्सा लिया.

12-Aug-2020

Related Posts

Leave a Comment