पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह पर जोरदार हमला बोला. उन्होंने कहा कि वह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता. ममता ने यह बात कोलकाता में शाह के रोडशो के दौरान भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच हुई झड़प को लकेर कही.

‘अमित शाह खुद को क्या समझते हैं?’
भाजपा कार्यकर्ताओं पर झड़प के दौरान ईश्वरचंद विद्यासागर कॉलेज में तोड़फोड़ और 19वीं सदी के समाज सुधारक विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगा है. ममता ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता?
ममता ने कहा कि वे इतने असभ्य हैं कि उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी. वे सभी बाहरी लोग हैं. भाजपा मतदान वाले दिन के लिए उन्हें लाई है. उन्होंने प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ बुधवार को एक विरोध रैली करने की घोषणा भी की.
अमित शाह के रोडशो में हिंसा
बता दें कि अमित शाह के रोडशो पर मंगलवार को कथित रूप से तृणमूल कांग्रेस छात्र परिषद (टीएमसीपी) के कार्यकर्ताओं ने पत्थर फेंके. इसके बाद कॉलेज स्ट्रीट के पास हिंसा भड़क उठी, जिसमें तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया.

टीएमसीपी कार्यकर्ता कलकत्ता विश्वविद्यालय के गेट पर काले झंडों के साथ जमा थे. जैसे ही रोडशो वहां से गुजरा, उन्होंने अमित शाह के खिलाफ नारे लगाए और काले झंडे दिखाए. आरोप है कि उन्होंने रोडशो पर ईंट व पत्थर फेंके. भाजपा समर्थकों ने भी कथित रूप से विश्वविद्यालय छात्रों पर ईंटें फेंकी. media in put

15-May-2019

Leave a Comment