बनेगा देश का सबसे बड़ा मॉल, एकसाथ होगी 8000 गाड़ियों की पार्किंग...

नई दिल्‍ली : पिछले दिनों एक खबर आई थी कि देश में अब मॉल कल्‍चर डाउन हो रहा है और कई मॉल वीरान पड़े हैं. लेकिन, यह खबर आपकी इस सोच को बदल देगी क्‍योंकि एक बार फिर देश का सबसे बड़ा मॉल बनाने की कवायद शुरू हो गई है.

बनेगा देश का सबसे बड़ा मॉल, एकसाथ होगी 8000 गाड़ियों की पार्किंग...

नई दिल्‍ली : पिछले दिनों एक खबर आई थी कि देश में अब मॉल कल्‍चर डाउन हो रहा है और कई मॉल वीरान पड़े हैं. लेकिन, यह खबर आपकी इस सोच को बदल देगी क्‍योंकि एक बार फिर देश का सबसे बड़ा मॉल बनाने की कवायद शुरू हो गई है. पहले से ही देश में एक से बढ़कर एक मॉल बने हैं. इसमें सबसे बड़ा मॉल कोच्चि में बना लुलु मॉल (Lulu Mall) है. यह न सिर्फ देश का सबसे बड़ा मॉल है, बल्कि एशिया में भी दूसरे नंबर पर आता है. अब जो नया मॉल बनाया जाएगा, वह इससे भी कहीं ज्‍यादा बड़ा होगा और सबसे खास बात ये कि इस बार का मॉल एयरपोर्ट पर बनाया जा रहा है.

देश का मौजूदा सबसे बड़ा मॉल करीब 21.11 लाख वर्गफुट का है. कोच्चि स्थित इस लुलु मॉल में करीब 300 स्‍टोर हैं. सबसे बड़े मॉल की लिस्‍ट में नोएडा का ग्रेट इंडिया प्‍लेस और डीएलएफ मॉल ऑफ इंडिया भी आता है. हालांकि, नया बनने वाला मॉल इन सभी से कहीं आगे होगा और वहां स्‍टोर के अलावा अन्‍य सुविधाएं भी विकसित की जाएंगी.

कहां बनेगा सबसे बड़ा मॉल

अब बात करते हैं देश में बनने वाले सबसे बड़े मॉल की. टाइम्‍स ऑफ इंडिया के मुताबिक, यह मॉल इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट एयरोसिटी (IGI Airport) के साथ बनाया जा रहा है. 2.5 अरब डॉलर (करीब 21 हजार करोड़ रुपये) की लागत से बन रहा यह मॉल साल 2027 तक तैयार हो जाएगा. यह देश का पहला एयरोट्रोपोलिस मॉल भी होगा.

कितना बड़ा होगा यह मॉल

दिल्‍ली एयरपोर्ट पर बनने वाले इस मॉल की विशालता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है क‍ि देश का मौजूदा सबसे बड़ा मॉल जहां 21.11 लाख वर्गफुट का है, वहीं नया बनने वाला मॉल करीब 28 लाख वर्ग फुट में होगा. इसका मतलब हुआ कि करीब 7 लाख वर्गफुट ज्‍यादा बड़ा होगा. इतना ही नहीं एयरपोर्ट के आसपास ऑफिस, रिटेल, फूड कोर्ट और एंटरटेनमेंट के लिए कुल 1.80 करोड़ वर्गफुट में निर्माण किया जाएगा. नया मॉल अभी दिल्‍ली के वसंत कुंज में बने मॉल से करीब दोगुना होगा.

मॉल की बड़ी खासियत

देश का सबसे बड़ा मॉल बनाने जा रही भारती रियलिटी के एमडी व सीईओ एसके सयाल का कहना है कि हमने इस मॉल को बनाने से पहले दुनियाभर में अपनी टीम भेजकर बेस्‍ट सुविधाएं तैयार करने का प्‍लान बनाया है. यह एयरोसिटी साल 2029 तक पूरी तरह विकसित हो जाएगा और यहां करीब 20 लाख लोग काम करेंगे, जबकि दिल्‍ली एयरपोर्ट की सालाना क्षमता बढ़कर 14 करोड़ तक पहुंच जाएगी. इसके लिए एयरपोर्ट पर एक और टर्मिनल विकसित किया जाएगा. मॉल के नीचे अंडरग्राउंड पार्किंग में एकसाथ 8,000 कारों को खड़ा किया जा सकेगा.(एजेंसी)